यूपी: आठ थाना क्षेत्रों में पिता-पुत्र को बंधक बनाकर घुमाते रहे बदमाश, डेढ़ लाख से ज्यादा लूटे

नोएडा कोतवाली सेक्टर-39 क्षेत्र के महामाया फ्लाईओवर के पास स्थित बस स्टैंड से 16 सितंबर को सुबह एक पिता-पुत्र मैनपुरी जाने के लिए सवारी गाड़ी का इंतज़ार कर रहे थे। इस दौरान कार सवार 4 बदमाशों ने उन्हें लिफ्ट देकर कार में बैठा लिया। रास्ते में बदमाशों ने पिता-पुत्र की पिटाई कर हथियार के बल पर उन्हें बंधक बना लिया.

और उनसे एक लाख 69 हज़ार रुपये लूट लिए। बदमाश पीड़ितों को जेवर टोल प्लाजा से पहले फेंककर फरार हो गए। पीड़ितों की शिकायत पर कोतवाली सेक्टर-39 पुलिस मामला दर्ज कर बदमाशों की तलाश कर रही है।

जानकारी के मुताबिक इकरार अली (40 वर्ष) निवासी जेजे कॉलोनी मदनपुर खादर कालिंदी कुंज दिल्ली ऑटो चालक है। उसने बताया कि 16 सितंबर को वह अपने पिता सोहराब अली के साथ दिल्ली से मैनपुरी जाने के लिए महामाया फ्लाईओवर के पास स्थित बस स्टैंड पर सवारी गाड़ी का इंतजार कर रहा था।

इस दौरान सुबह करीब 7:40 बजे एक कार उनके पास आकर रुकी जिसमें चालक समेत चार लोग सवार थे। कार सवार लोगों ने पिता-पुत्र से पूछा कि उन्हें कहां जाना है जिस पर उन्होंने बताया कि उन्हें मैनपुरी जाना है। इस पर चालक ने आगरा तक दोनों को छोड़ने की बात कहकर कार में बैठा लिया।

पीड़ित के मुताबिक कुछ दूर चलने के बाद कार सवार बदमाशों ने उनकी पिटाई शुरू कर दी और हथियार के बल पर उन्हें बंधक बना लिया। ज़मीन खरीदने के लिए ले जा रहे 1 लाख 19000 रुपये नकद बदमाशों ने इकरार की पिटाई कर उससे लूट लिए।

बदमाशों ने उसका एटीएम कार्ड लेकर पिन नंबर पूछकर परी चौक के पास स्थित अंसल सोसाइटी में स्थित एटीएम से दो बार में 50 हज़ार रुपये निकाल लिए। इसके बाद सुबह करीब 8:30 पर जेवर टोल से पहले फलेंदा पुल के पास बदमाश पिता-पुत्र को फेंक कर फरार हो गए।

हैरानी को बात यह है कि सुबह- सुबह हुई लूट की इस वारदात पर पुलिस की नज़र तक नहीं पड़ सकी जबकि इस दौरान बदमाश करीब जिले के करीब आठ थाना क्षेत्रों से होकर गुजरे और किसी भी थाना क्षेत्र की पुलिस की नजर बदमाशों की गाड़ी पर नहीं पड़ी।

इसके बाद पीड़ित की तहरीर पर पुलिस ने चोरी की धाराओं में मामला दर्ज कर लिया। बाद में मीडिया में मामला आने के बाद लूट की धारा बढ़ाई गई।

कोतवाली सेक्टर-39 प्रभारी राजीव बालियान ने बताया कि पीड़ित ने बदमाशों की कार का नंबर नोट कर लिया था जिसके आधार पर बदमाशों की तलाश की जा रही है। एक्सप्रेस-वे पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज की मदद से बदमाशों की पहचान कर जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

आठ थाना क्षेत्रों में पीड़ितों को बंधक बनाकर घुमाते रहे बदमाश, पुलिस को नहीं लगी भनक

जनपद गौतमबुद्ध नगर में प्रत्येक थाना क्षेत्र में पुलिस और पीसीआर दिन-रात गश्त करती रहती है। इस दौरान नोएडा- ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे और यमुना एक्सप्रेस-वे पर पड़ने वाले सभी थाना क्षेत्र में पीसीआर गश्त करती रहती है।

16 सितंबर की सुबह 7:40 पर कार सवार बदमाशों ने पिता-पुत्र को सेक्टर-39 थाना क्षेत्र से लिफ्ट देकर बंधक बनाकर लूटा था। इस दौरान भीलभाड़ वाले नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे पर पुलिस को बदमाशों की गाड़ी की भनक तक नहीं लग सकी।

बदमाशों ने पूरी वारदात को महज 50 मिनट में अंजाम दिया और इस दौरान एक लाख 69 हज़ार रुपये लूट कर फरार हो गए। इस दौरान दिनदहाड़े बदमाश जिले की कोतवाली सेक्टर 39, कोतवाली सेक्टर-49, कोतवाली फेज-2, कोतवाली सूरजपुर, कोतवाली नॉलेज पार्क, कोतवाली बीटा-2, कोतवाली दनकौर और कोतवाली जेवर समेत आठ थाना क्षेत्रों में खुलेआम हथियार के बल पर 2 पीड़ितों को बंधक बनाकर घुमाते रहे.

और लूट की वारदात को अंजाम देने के बाद आराम से पिता-पुत्र को यमुना एक्सप्रेस-वे पर जेवर टोल से पहले फेंक कर फरार हो गए। इससे पुलिस पीसीआर की गश्त व्यवस्था की पोल भी खुल रही है।

Also Read

तीन दिन के अमेरिकी दौरे पर पीएम मोदी, आज कमला हैरिस से कर सकते हैं मुलाकात, क्वाड समिट में लेंगे हिस्सा

You may also like...