Fatehpur आवास दिलाने के नाम पर चलती कार में लड़की से Gangrape

Gangrape with a girl in a moving car in the name of providing accommodation

Fatehpur आवास दिलाने के नाम पर चलती कार में लड़की से Gangrape Fatehpur

Gangrape with a girl in a moving car in the name of providing accommodation

आरोप है कि मो. अनीस और मो. शमी ने उसे आवास योजना का लाभ दिलाने के बहाने पहले अपने पास बुलाया और फिर अपने दो साथियों की मदद से उसे बंधक बनाकर चलती कार में जबरन गैंगरेप किया. घटना के वक्त प्यास से तड़प रही लड़की ने जब आरोपियों से पीने के लिए पानी मांगा तो हैवानों ने उसके मुंह में जबरन पेशाब करते हुए अश्लील वीडियो क्लिप भी बना लिया. बेसहारा लड़की की अस्मत लूटने के बाद आरोपियों ने उसे कहीं शिकायत करने पर हत्या की धमकी देते हुए छोड़ दिया, जिसके बाद पीड़ित युवती सीधे थाने पहुंची और पुलिस को तहरीर दी. आरोप है कि Fatehpur पुलिस ने उसकी रिपोर्ट नहीं दर्ज की.

इसके बाद भी लड़की ने हार नही मानी और आरोपियों के खिलाफ कोर्ट में अर्जी डाली. कोर्ट ने मामले की सुनवाई के बाद पुलिस को केस दर्ज कार्रवाई किए जाने का आदेश दिया. कोर्ट के आदेश पर बिंदकी कोतवाली पुलिस ने मो. अनीस राईन, मो. शमी कुरैशी समेत 3 नामजद और एक अज्ञात के खिलाफ आईपीसी की धारा 376-D, 354-ग, 506 व एससी/एसटी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज कर पीड़िता को मेडिकोलीगल के लिए जिला अस्पताल भेजा है. घटना बिंदकी कोतवाली इलाके की है. Fatehpur बिंदकी कोतवाली इलाके की रहने वाली हिन्दू लड़की ने बताया कि उसके माता पिता की मौत हो चुकी है.

वह कपड़ों की फेरी कर अपना जीविका चलाती है. इसी दौरान उसकी मुलाकात हथगांव थाना क्षेत्र के डीघवारा गांव के रहने वाले मो. अनीस और मो. शमी कुरैशी से हुई थी. आरोपियों ने उसे आवास योजना का लाभ दिलाने का झांसा दिया. 10 मई 2023 की शाम आरोपियों ने उसे लेखपाल से मिलाने के बहाने फोन करके बिंदकी कस्बे में बुलाया, जब लड़की उनके पास पहुंची तो उसे कार में बैठा लिया. कुछ दूर चलने के बाद ड्राइवर ने गाड़ी को सूनसान रोड की तरफ मोड़ दिय.

चलती कार में ही आरोपी अनीश राईन और मो. शमी ने लड़की को बंधक बनाकर उसके साथ गैंगरेप किया. इस दौरान पानी मांगने पर हैवानों ने लड़की के मुंह में पेशाब कर अश्लील वीडियो बना लिया और कहीं शिकायत करने पर वीडियो वायरल करने और जान से मारने की धमकी दी.

मामले में पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट तो दर्ज कर ली, लेकिन अभी तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो सकी, जिसके चलते आरोपी पीड़ित लड़की पर सुलह का दबाव बना रहे हैं.

You may also like...