CrimeLucknowPoliticsPratapgarhPrayagrajUttar Pradesh

Guddu Muslim को लेकर बोले STF चीफ- ‘बहुत पुराना शार्प-शूटर

STF Searching Guddu Muslim: अतीक अहमद और अशरफ के मारे जाने के बाद अब उत्तर प्रदेश की स्पेशल टॉस्क फोर्स को उमेश पाल हत्याकांड में बमबाजी करने वाले गुड्डू मुस्लिम की तलाश है।

यूपी एटीएस की टीम भूखे भेड़ियों की तरह से गुड्डू मुस्लिम को तलाश रही है। इस बीच जब रिपब्लिक भारत ने एसटीएफ चीफ अमिताभ यश से गुड्डू मुस्लिम को लेकर बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि वो हमसे एक-दो बार मिस हुआ है लेकिन हम उसे जल्दी ही ट्रैक कर लेंगे। 

अमिताभ यश ने बताया कि वो बहुत ही पुराना शॉर्प शूटर है बहुत से ऐसे भी क्राइम उसने किए हैं जिसमें उसके खिलाफ मामले दर्ज ही नहीं हुए हैं। जब एसटीएफ चीफ से पूछा गया कि क्या गुड्डू मुस्लिम की निशानदेही पर असद और गुलाम का एन्काउंटर हुआ तो उन्होंने कहा कि नहीं ऐसा नहीं है अगर कोई ऐसा कोई कह रहा है तो बहुत हास्यास्पद है। 

यह भी पढ़े

पत्रकारिता पर संकट, लोकतंत्र पर खतरा और अभिव्यक्ति की आजादी पर हमले का रोना रोने वाले कुछ पत्रकार और विपक्षी दलों के नेता मनीष कश्यप के मुद्दे पर क्यों खामोश हैं

एसटीएफ चीफ ने आगे बताया कि असद और गुलाम के पास से विदेशी हथियार भी मिले हैं। ये हथियार सरहद के उस पार से आये थे कौन उस पार से सप्लाई करता है ये किसी से छुपा नहीं है अंडरवर्ल्ड और डिस्ट्रेक्टिव एलिमेंट के गठजोड़ का भी पता लगता है। वहीं जब उनसे सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे मोहम्मद मुस्लिम और असद के बातचीत  और चैट पर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि ये जांच का विषय है। एसटीएफ हमेशा से बेहतर काम कर रही है। 

जब एसटीएफ चीफ से पूछा गया कि क्या शाइस्ता और गुड्डू मुस्लिम चुनौती है?

इस सवाल के जवाब में एसटीएफ चीफ ने कहा कि कुछ असफलताओं और कड़ी मेहनत के बाद सफलता मिली है। कुछ अपराधी पकड़े गए हैं कुछ का पकड़ा जाना बाकी है। गुड्डू मुस्लिम उनमें से एक है कई बार हम उसके पास पहुंचे लेकिन उसे पकड़ना प्रोग्रेस में है।

क्या जल्दी पकड़ा जाएगा गुड्डू मुस्लिम?

इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि टाइमलाइन देना संभव नहीं है गुड्डू मुस्लिम काफी पुराना शॉप शूटर्स और बमबाज है। वो मोटर साइकिल पर चलते हुए बम बनाने में माहिर है। 

वहीं जब एसटीएफ चीफ से अतीक गैंग के ISI कनेक्शन पर सवाल किया गया तो उन्होंने जवाब में कहा कि विदेश से हथियारों की  सप्लाई हो रही थी बहुत सारे सोफेस्टिकेटेड वेपंस मिले हैं और इसके लिंक को लेकर भी जांच पड़ताल चल रही है।  

क्या मोहम्मद मुस्लिम ने फाइनेंस किया था?

STF चीफ ने जवाब देते हुए कहा कि इस मसले को लेकर भी जांच चल रही है मामला विवेचना में है।

असद के एनकाउंटर पर सवाल उठे हैं?

STF चीफ ने जवाब देते हुए कहा कि एन्काउन्टर पर सवालों का स्वागत है। मगर हर एन्काउन्टर बड़ी जांच से होकर गुजरता है और अब तक STF पर कोई दाग नहीं लगा।

24 साल पहले भी वो पुलिस के हत्थे चढ़ा थाः अमिताभ यश

इसके पहले 17 अप्रैल को रिपब्लिक भारत से बातचीत में एसटीएफ चीफ अमिताभ यश ने गुड्डू मुस्लिम के बारे में जानकारी देते हुए कहा था, ‘ जब मैंने उमेशपाल हत्याकांड का सीसीटीवी फुटेज देखा तभी मैंने गुड्डू मुस्लिम को पहचान लिया था। वह एक प्रोफेशनल किलर है उसे गिरफ्तार करना बहुत जरूरी है। किसी भी जुर्म को अंजाम देने के लिए वो अकेले ही सक्षम है। मेरा साल 1999 में उससे पाला पड़ चुका है जब मैंने उसे गोरखपुर में NDPS मामले में गिरफ्तार किया था, तब मैं वहां एएसपी था। बाद में अतीक ने वकीलों की मदद से इसकी जमानत करवा दी थी।’