2022 में बसपा की बनेगी पूर्ण बहुमत की सरकार-भीम राजभर

Prayagraj (L.N.Singh Reporter )  बहुजन समाज पार्टी के तत्वावधान में आयोजित एकदिवसीय पिछड़ा वर्ग प्रशिक्षण शिविर में मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए प्रदेश अध्यक्ष भीम राजभर ने कहा कि बसपा सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय के नारे को जमीन पर उतारने के लिए प्रतिबद्ध है।

बसपा के शासन मे बहन मायावती ने पिछड़े वर्गों के मान सम्मान को बढ़ाया जिसकी पहचान 1984  से पहले नहीं थी। “जिसकी जितनी संख्या भारी उसकी उतनी भागीदारी” मान्यवर साहब के नारे को चरितार्थ करने का काम बहन जी ने किया तभी सर्वसमाज को बराबर की हिस्सेदारी मिली।

उन्होंने कहा कि समर्पित बसपा कार्यकर्ताओं के दम पर आगामी 2022 में प्रदेश में पूर्ण बहुमत से बहन मायावती के नेतृत्व में सरकार बनेगी।बसपा ने पिछडे समाज के लोगों को प्रदेश अध्यक्ष से लेकर विधानसभा अध्यक्ष तक बनाया जिसकी लम्बी फेहरिस्त है जंग बहादुर पटेल, भगवत पाल, दयाराम पाल, बरखुराम वर्मा, के.के. सचान, स्वामी प्रसाद मौर्य, राम अचल राजभर ……… आज मुझ जैसे कार्यकर्ता को बूथ अध्यक्ष से लेकर प्रदेश अध्यक्ष तक बनाया।

प्रशिक्षण शिविर की अध्यक्षता करते हुए राज्यसभा सांसद एवं मुख्य सेक्टर प्रभारी डा. अशोक सिद्धार्थ  ने कहा कि तिहत्तर वर्षों के इतिहास में सर्वसमाज के लिए जितना काम माननीय बहन जी के नेतृत्व में बसपा सरकार ने किया उतना सभी सरकारों ने मिलकर भी नहीं किया होगा।

भाजपा आज जो पिछड़ों की रहनुमा बनने का ढोंग कर रही है वही भाजपा बसपा के शर्तों पर चलने वाली बीपी सिंह जी की सरकार ने बसपा के दबाव में मण्डल कमीशन की रिपोर्ट को लागू किया तो यही भाजपा बीपी सिंह की सरकार से समर्थन वापस ले कर पिछड़ों के विरोध में पूरे देश को अराजकता की आग में डाल दिया और पिछड़ों के हक अधिकार को न्यायालय में ले जाकर रोकने का काम किया।

श्री सिद्धार्थ ने कहा कि बसपा के 2007 से 2012 का शासन काल  प्रदेश की जनता का स्वर्णकाल रहा अपराध व भयमुक्त सर्व समाज के उत्थान के लिए जाना जाता है ठीक उसी प्रकार जिस प्रकार चन्द्र गुप्त मौर्य के स्वर्ण काल को लोग याद करते है। बसपा शासन में उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश के रूप में सर्व समाज के लोग याद करते है।

सम्मेलन को संबोधित करते हुए विशिष्ट अतिथि अमरेंद्र बहादुर पासी ने कहा कि भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों से आज जनता पूरी तरह से आजिज आ चुकी है।

     सम्मेलन में पूर्व विधायक राजबली जैसल , बाबूलाल भंवरा, राजू गौतम , जगन्नाथ पाल ,  अतुल टीटू , संदीप कुशवाहा, रविन्द्र गांधी, रामबृज गौतम, टीकेश गौतम, डा. आरपी गौतम, डा. अशोक सिद्धार्थ, गुलाब चमार, शारदा प्रसाद , चिंतामणि वर्मा, दशरथ पाल, अहमद अंसारी, राम तौलन यादव, नदीम अहमद , चांद मोहम्मद चंदू , राजेश पासी, संतोष हेला, टीएन जैसल, डी आर प्रधान, घनश्याम पटेल, आनंद भारती, तीर्थराज बिंद जी, अशोक बिंद, रामरक्षा चमार , मनोज पासी, राजेश तिवारी, कृष्णा पासी, भोला चौधरी, शाहिद खांन, शाबिर सिद्दीकी, जंगबहादुर मौर्या आदि हजारों की संख्या मे पदाधिकारी कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

कार्यक्रम का संचालन पूर्व जिलाध्यक्ष ज्ञान सिंह पटेल ने किया।

You may also like...